12 Posts

तकलीफ अकेलेपन से नहीं,
अंदर के शोर से हैं.

हे मेरे प्यारे!
"श्री राधे-राधे

“कुदरत ने हम सबको हीरा ही बनाया है, पर शर्त यही है वही चमकेगा जो घिसेगा.”

हे मेरे प्यारे!
"श्री राधे-राधे

"आज कल सिर्फ़ पैर छूना ही सम्मान नहीं है किसी के आने पर मोबाइल साइड में रख देना भी बहुत बड़ा सम्मान है."

हे मेरे प्यारे!
"श्री राधे-राधे

“दुआएँ और मुस्कुराहट प्रतिदिन बाँटने से रोज बढ़ती हैं”

इंसान का सबसे बड़ा और
सबसे पहला धर्म इंसानियत है।

हे मेरे प्यारे!
"श्री राधे-राधे

“आप नेक काम करते रहें, कोई आपको सम्मानित करे या ना करे आपकी अंतरात्मा सदैव आपका सम्मान करेगी”

आपको कौन-सा पसंद है?

Koo

Tooter

Twitter

कुछ और

अच्छे इंसान अपने कर्म द्वारा ही पहचाने जाते हैं,
क्योंकि अच्छी बातें तो बुरे लोग भी कर लेते हैं.

हर व्यक्ति किसी न किसी धर्म से जुड़ा होता हैं और ईश्वर के प्रति उसकी अटूट श्रद्धा होती हैं. ईश्वर की भक्ति से शक्ति मिलती हैं. मन को शांति मिलती हैं और जब हमारे दुःख के समय हमारे साथ कोई नहीं होता है तो हम अपने आस-पास ईश्वर को महसूस करते हैं.

ज़ब हम सोते हैं... सपने में होते है, वही हमें सत्य लगता है।.. फिर अचानक से हमारी आँख खुल जाती है। कई बार लगता है कि हम यह जी रहे जिंदगी भी एक सपना है.. जाने कब कहाँ.. हमारी आँख खुल जाए.. इस सत्य को झूठ साबित करते हुए...

याद होगा हमारी दादी,नानी कहा करती थी कि हर किसी के हाथ से पानी नहीं पीना चाहिए। अब एक वैज्ञानिक ने यह सिद्ध भी कर दिया कि पानी की अपनी याददाश्त होती है, वह जिसके हाथ में होती है उसी के भाव ग्रहण कर लेती है।
हमारे एक हाथ में पानी का ग्लास होता है और दूसरी तरफ दुनिया भर का तनाव,यही सारे भाव पानी ग्रहण कर लेता है और ज़ब उस पानी को हम पीते हैं, हमारी समस्या बढ़ेगी ही।
अब आप ज़ब भी पानी पिए, पानी के प्रति आभार व्यक्त करें, बस यही महसूस करें कि आप ख़ुश हैं..कुछ समय बाद प्रभाव खुद ब खुद नजर आने लगेगा।

हे मेरे प्यारे!
"श्री राधे-राधे

“तनाव से केवल समस्याएँ जन्म ले सकती है, अगर समाधान खोजना है तो मुस्कुराना ही पड़ेगा”